शादी की पहली रात के ये रिवाज, जिनको जानकर कही आपके होश ना उड़ जाये….

विवाह होने के बाद दुल्हे और दुल्हन की पहली रा-त को सुहा-गरात मनाते है ! सुहा-गरात को यादगार बनाने के लिए लड़का और लड़की अपने भविष्य की कल्पना करते हुए एक दुसरे के साथ बातचीत करते है ! वैसे तो हर समुदाय में विवाह के अलग अलग रीतिरिवाज होते है ! जो सुहा-गरात को यादगार बनाता है ! पर कुछ ऐसे प्रथाये होती है जो परिवार के लिए मनोरंजन तो करती है ! पर उससे दूल्हा और दुल्हन को शर्मिंदा भी होना पड़ सकता है!

 

 

कालरात्रि-

बंगाल में विवाह होने के बाद सुहा-गरात को दूल्हा और दुल्हन एक साथ एक कमरे में नहीं सुलाते ! उनको अलग अलग कमरों में सुलाया जाता है और अगली सुबह दुल्हन अपने मायके (पिता के घर) चली जाती है ! इसका कारण ये है कि इससे लड़की अपने पति और सुसराल वालो के प्रति उनका स्वभाव जान सकती है कि वो उस परिवार में रह सकती है या नहीं !

दूध का गिलास-

प्रत्येक घरो में अक्सर सुहागरात में परिवार वाले दूल्हा और दुल्हन के लिए कमरे में दूध का गिलास पहुंचाते है ! और दोनों को उसे पीना भी पड़ता है ! कुछ लोग इसको अच्छे से-क्स करने से जोड़ते है ! तो कुछ इसको यादगार पल के रूप में जोड़ते है !

सफ़ेद चादर बिछाना-

कुछ समुदाय में दूल्हा और दुल्हन की सुहा-गरात में उसके बिस्तर पर सफ़ेद चादर बिछाई जाती है ! माना जाता है सफ़ेद चादर बिछाने का मतलब है कि लड़की कु-वारी है या नहीं ! वैसे अधिकतर समुदाय में ये प्रथा ख़त्म कर दी गई है ! पर अभी भी कुछ जगहो पर ऐसा देखने को मिलता है ! ये प्रथा दु-ल्हन को शमिन्दा भी कर देती है !

रिश्तेदारों को सुहा-गरात की चादर दिखाना-

सुहा-गरात के अगले दिन सभी रिश्तेदारों को ये चादर दिखाई जाती है कि दुल्ह-न विवाह होने से पहले कुवा-री थी या नहीं ! कई जगहों पर इस प्रथा को समाप्त कर दिया गया है ! फिर भी कुछ दूर दराज इलाको में ये प्रथा निभाई जाती है !

पान खिलाना-

सुहा-गरात को दूल्हा और दुल्हन को पान खिलाया जाता है ! इस प्रथा को मानने वाले बताते है कि पान खाने से मुंह में खुशबु रहती है ! और मुंह की दुर्गन्ध दब जाती है ! जिससे नए जोड़े को पास आने में कोई परेशानी नहीं होती !

सुहा-गरात की सेज-

सुहा-गरात को दुल्हे और दुल्ह-न के कमरे को फूलो से सजाया जाता है ! उनके बिस्तर को भी फूलो से सजाया जाता है ! ऐसा इसलिए करते है जिससे दोनों रो-मांटिक हो जाये और ये पल उनके लिए यादगार पल बन जाये !

सौजन्य से-

पूरी खबर पढ़ने के लिए अगले पेज पर जाये...